भारत / मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व -एमपीपीएससी

भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व - एमपीपीएससी,
मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व -एमपीपीएससी,

Role of agriculture in Indian economy - MPPSC,

 Role of agriculture in economy of Madhya Pradesh,

  importance of agriculture in economy of Madhya Pradesh.,

भारत / मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व

मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि का क्या महत्व है ??

मध्य प्रदेश की अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व--

➥मध्यप्रदेश में कृषि आजीविका का महत्वपूर्ण स्रोत है ,मध्य प्रदेश की  जनसंख्या का लगभग 74%  भाग कृषि पर निर्भर करता है।
मध्य प्रदेश राज्य की जीडीपी में कृषि का हिस्सा लगभग 34% है
➥अंतर राज्य व्यापार में मुख्यतः दलहन और सोयाबीन में मध्यप्रदेश अग्रणी राज्य है।
➥मध्यप्रदेश में कृषि क्षेत्र में नई तकनीकी व प्रबंध  के क्षेत्र में सुधार होने से नए रोजगार की अपार संभावना बनी है
➥राज्य के आर्थिक विकास में सहायक है ,क्योंकि उद्योगों को कच्चा माल उपलब्ध करवाने में कृषि क्षेत्र की महत्वपूर्ण भूमिका होती है।
➥मध्य प्रदेश की विशाल जनसंख्या की पोषण अर्थात खाद्यान्न की आवश्यकता को पूरा करने में कृषि अत्यंत ही महत्वपूर्ण योगदान प्रदान करती है।
➥पूंजी निर्माण में कृषि महत्वपूर्ण साधन के रूप में एक अनिवार्य घटक है
➥कृषि क्षेत्र औद्योगिक उत्पादन के लिए एक विस्तृत बाजार की भूमिका निभाता है ,
उदाहरण के लिए ट्रैक्टर, सिंचाई पंप , प्रसंकरण खाद्यान्न आदि के उत्पादन तथा उपभोग में कृषि क्षेत्र महत्वपूर्ण भूमिका अदा करता है।


भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि का महत्व --एमपीपीएससी


➥भारतीय अर्थव्यवस्था में कृषि आजीविका का एक महत्वपूर्ण स्रोत है लगभग 49% जनसंख्या कृषि पर निर्भर करती है।
➥भारत की जीडीपी में कृषि का हिस्सा लगभग 40% है अंतरराष्ट्रीय व्यापार में कृषि का हिस्सा लगभग 10% है जो कि भारतीय अर्थव्यवस्था का एक महत्वपूर्ण घटक है
➥कृषि निर्यात से अंतरराष्ट्रीय मुद्रा की प्राप्ति होती है जिससे भुगतान संतुलन में सहायता मिलती है और विदेशी मुद्रा भंडार में भी वृद्धि होती है अर्थात कृषि भारतीय अर्थव्यवस्था की मजबूती प्रदान करने वाला एक महत्वपूर्ण घटक है
➥भारत की आर्थिक विकास में सहायक है, कृषि आधारित उद्योगों जैसे कपड़ा उद्योग चीनी उद्योग मसाला उद्योग आदि को कच्चा माल उपलब्ध करवाने में कृषि की ही भूमिका सर्वोपरि होती है
➥कृषि देश की विशाल जनसंख्या की खाद्यान आवश्यकताओं की पूर्ति करवाने का मूल स्तंभ है।
➥कृषि भारत की अर्थव्यवस्था में पूंजी निर्माण के महत्वपूर्ण साधन के रूप में अपना महत्वपूर्ण स्थान रखती है।
➥कृषि भारतीय औद्योगिक उत्पादों के तैयार माल के लिए एक व्यापक बाजार उपलब्ध करवाती है

 इन्हें भी पढ़ें--- मध्य प्रदेश लोक सेवा आयोग की मुख्य परीक्षा के लिए महत्वपूर्ण पुस्तकें 

                      बिना कोचिंग के एमपीपीएससी की तैयारी कैसे करें

                      राष्ट्रीय / क्षेत्रीय संविधानिक तथा सांविधिक  संस्थाएं  

                      विश्व विरासत स्थलों की सूची

                     ओलिंपिक खेलो से सबंधित प्रश्न 

                      परीक्षा हेतु महत्वपूर्ण स्टडी मटेरियल 
         


Previous
Next Post »