[MP GK] Forest Institutes of Madhya Pradesh and their Headquarters -मध्य प्रदेश राज्य के प्रमुख वन संस्थान एवं उनके मुख्यालय

मध्य प्रदेश राज्य के प्रमुख वन संस्थान एवं उनके मुख्यालय -
 Forest Institutes of Madhya Pradesh and their Headquarters in Hindi

Forest Institutes of Madhya Pradesh and their Headquarters in Hindi


वन विकास निगम भोपाल में स्थित है


संजीवनी संस्थान भोपाल में स्थित है


भारतीय वन प्रबंध संस्थान भोपाल में स्थित है


भारतीय वन अनुसंधान संस्थान का क्षेत्रीय कार्यालय जबलपुर में स्थित है


जड़ी-बूटी बैंक पंचमढ़ी में स्थित है,


मध्य प्रदेश इको पर्यटन विकास बोर्ड का मुख्यालय भोपाल में स्थित है,


जैव विविधता प्रशिक्षण केंद्र उमरिया में स्थित है,


वन विद्यालय/प्रशिक्षण संस्थान


वन क्षेत्रपाल [फारेस्ट रेंजर ]महाविद्यालय बालाघाट में है


राजीव गांधी वानिकी प्रशिक्षण संस्थान लखनादौन (सिवनी) में स्थित है,


इंदिरा गांधी वन प्रशिक्षण शाला पंचमढ़ी में स्थित है,


जैव विविधता प्रशिक्षण केंद्र ताला (उमरिया) में स्थित है,


वन विद्यालय- अमरकंटक ,बेतूल ,गोविंदगढ़, झाबुआ में स्थित है,


मध्य प्रदेश में वनों/वन संसाधन से संबंधित सामान्य ज्ञान -

most imp factsin hindi for mppsc and mppeb exam


सर्वाधिक वन क्षेत्र वाला जिला बालाघाट है,


वन विभाग की त्रैमासिक पत्रिका का नाम मध्य प्रदेश वनांचल संदेश हैं,


मध्य प्रदेश की पहली वन नीति 1952 में बनी थी,


मध्य प्रदेश वन विकास निगम की स्थापना 24 जुलाई 1975 में की गई है,


मध्य प्रदेश में देश का 50% साल वृक्ष है ,राज्य के कुल क्षेत्रफल के 16.54% क्षेत्र में साल के वन हैं,


4 अप्रैल 2005 को मध्य प्रदेश की नई वन नीति की घोषणा की गई,


पर्यावरणीय दृष्टि से एक तिहाई भाग में वन होना चाहिए,


मध्य प्रदेश के कुल भौगोलिक क्षेत्रफल 308252 वर्ग किलोमीटर में से 76482 वर्ग किलोमीटर पर वन क्षेत्र है,


मध्यप्रदेश वन्य जीव संरक्षण अधिनियम 1974 में पारित हुआ,


प्रदेश में सामाजिक वानिकी योजना 1976 में प्रारंभ की गई,


लाख उत्पादन में मध्यप्रदेश का दूसरा स्थान है,


मध्य प्रदेश के 52 जिलों को 16 क्षेत्रीय वनवृत्त एवं  63 क्षेत्रीय वन मंडल में बांटा गया है,


मध्य प्रदेश में कुल 925 वन ग्राम है,


मध्य प्रदेश में देश की 60% तेंदूपत्ता का उत्पादन करता है,


प्रदेश के कुल मुख्य वन सागौन, साल तथा बांस हैं,


वनीकरण के लिए 1976 से पंचवन योजना ऐसे जिलों में चलाई जा रही हैं ,जहां राष्ट्रीय वन नीति के निर्धारित मापदंड [33% से कम ] वन है,


पंचमढ़ी एवं अमरकंटक को यूनेस्को द्वारा विश्वव्यापी नेटवर्क में शामिल किया गया है,


आपदा प्रबंधन संस्थान भोपाल में 19 नवंबर 1986 में स्थापना की गई,


मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड भोपाल में है,


मध्य प्रदेश जल संरक्षण प्राधिकरण की स्थापना 2014 में  की गई है,


मध्य प्रदेश प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड की स्थापना 23 सितंबर 1974 को हुई थी,


Previous
Next Post »