भारत में रेल परिवहन सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर

 General knowledge question answer on Indian railway in Hindi for competitive exams.

 भारत में रेल परिवहन सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर

भारतीय रेल परिवहन एवं रेल मुख्यालयों तथा रेलवे से संबंधित सामान्य ज्ञान के प्रश्न उत्तर विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं में अक्सर पूछे जाते हैं ।
यहां पर भारतीय रेल से संबंधित सामान्य ज्ञान के महत्वपूर्ण तथ्य को सरल भाषा में प्रस्तुत किया गया है जो कि विभिन्न प्रतियोगी परीक्षाओं के दृष्टिकोण से महत्वपूर्ण है।


भारत में रेल परिवहन सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर


भारतीय रेल एशिया की सबसे बड़ी तथा विश्व की दूसरी सबसे बड़ी रेल व्यवस्था है

भारत में पहली रेल 1853 में मुंबई से थाने के बीच चली थी ,इसमें कुल 34 किलोमीटर की यात्रा तय की थी।

भारतीय रेलवे बोर्ड की स्थापना वर्ष 1950 में हुई थी ,तथा रेलवे का राष्ट्रीयकरण वर्ष 1950 में हुआ।

भारतीय रेल की पहली विद्युत रेल गाड़ी (इलेक्ट्रिक रेल) 3 फरवरी 1925 को मुंबई और कुर्ला के बीच चली थी।

भारत में मेट्रो रेल का शुभारंभ 1984 में प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी के द्वारा कोलकाता मेट्रो रेलवे के रूप में किया गया था।

भूमिगत मेट्रो अर्थात अंडर ग्राउंड मेट्रो रेल की सुविधा कोलकाता एवं दिल्ली में है इसकी शुरुआत 24 अक्टूबर 1984 को कोलकाता में हुई थी।

दिल्ली मेट्रो रेल की स्वीकृति वर्ष 1996 में मिली तथा इसका पहली बार परिचालन 25 दिसंबर 2002 को प्रारंभ हुआ।

भारत में रैपिड मेट्रो रेल परिवहन की शुरुआत सर्वप्रथम हरियाणा के गुड़गांव में 14 नवंबर 2013 को हुआ।

भारतीय रेल की सबसे लंबी दूरी तय करने वाली रेल का नाम विवेक एक्सप्रेस है जो कि असम के डिब्रूगढ़ से कन्याकुमारी तक कुल 4272 किलोमीटर की यात्रा तय करती है।

भारत में सबसे तेज गति से चलने वाली ट्रेन गतिमान एक्सप्रेस है ,जो हजरत निजामुद्दीन दिल्ली से आगरा के मध्य चलती है इसकी गति 160 किलोमीटर प्रति घंटा है।

कोयले से चलने वाला देश का एकमात्र और सबसे पुराना चालू इंजन फेयरी क्वीन है।

भोपाल एक्सप्रेस जो कि भोपाल से दिल्ली के मध्य चलती है देश की पहली रेलगाड़ी है जिससे ISO-9001 प्रमाण पत्र मिला है।

कोंकण रेलवे द्वारा विकसित विश्व का पहला टक्कर रोधी उपकरण पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे मार्ग पर स्थापित किया गया है।

देश में तीन प्रकार के रेलमार्ग है -

ब्रॉड गेज 

मीटर गेज और

 नेरो गेज।

पश्चिमी सहयाद्री में महाराष्ट्र गोवा कर्नाटक को जोड़ने वाली कोंकण रेलवे परियोजना की शुरुआत वर्ष 1990 में हुई थी।

भारतीय रेल की सबसे लंबी सुरंग काजीगुंड और बनिहाल के बीच की पीर पंजाल रेलवे सुरंग है जिसकी लंबाई करीब 11 किलोमीटर है।

best gadgets for online classes for students on amazon 

भारत के रेल मंडल एवं उनके मुख्यालयों की सूची

रेलवे को 17 मंडलों में बांटा गया है तथा प्रत्येक मंडल का एक प्रधान महाप्रबंधक होता है।


मध्य रेलवे ➥मुंबई वीटी 

पूर्वी रेलवे ➥ कोलकाता 

उत्तर रेलवे ➥ नई दिल्ली 

पूर्वोत्तर रेलवे ➥गोरखपुर

पूर्वोत्तर सीमांत रेलवे ➥मालीगांव गुवाहाटी 

दक्षिण रेलवे ➥चेन्नई 

दक्षिण मध्य रेलवे➥ सिकंदराबाद 

दक्षिण पूर्वी रेलवे➥ कोलकाता 

पश्चिमी रेलवे ➥मुंबई चर्चगेट 

उत्तर पश्चिम रेलवे➥जयपुर 

पूर्वी मध्य रेलवे ➥हाजीपुर 

पूर्वी तटीय रेलवे ➥भुवनेश्वर 

उत्तर मध्य रेलवे ➥इलाहाबाद

 दक्षिण पूर्व मध्य रेलवे ➥बिलासपुर

 दक्षिण पश्चिम रेलवे ➥हुबली

 पश्चिम मध्य रेलवे ➥जबलपुर 

कोलकाता मेट्रो ➥कोलकाता 

मध्य प्रदेश में रेल परिवहन से संबंधित महत्वपूर्ण तथ्य एवं सामान्य ज्ञान प्रश्न उत्तर

मध्य प्रदेश का सबसे बड़ा रेलवे जंक्शन इटारसी होशंगाबाद जिले में स्थित है 

मध्य प्रदेश का एकमात्र रेलवे जोन जबलपुर में स्थित है जो कि पश्चिम मध्य रेलवे के अंतर्गत आता है 

मध्य प्रदेश से होकर तीन रेल मार्ग निकलते हैं -पश्चिम रेलवे ,पश्चिम मध्य रेलवे ,दक्षिण पूर्वी मध्य रेलवे 

रेलवे स्लीपर बनाने का कारखाना मध्यप्रदेश के सीहोर जिले की बुधनी में स्थापित किया गया है 

डीजल इंजन बनाने का कारखाना मध्य प्रदेश में विदिशा जिले में स्थापित किया गया है 

मध्य प्रदेश में रेलवे कोच फैक्ट्री भोपाल में स्थापित है तथा इसकी स्थापना 1976 में की गई थी 

भोपाल में स्थित अटल बिहारी वाजपेई रेलवे स्टेशन जिस का पुराना नाम हबीबगंज रेलवे स्टेशन था जिसे ISO 9001 प्रमाण पत्र प्रदान किया गया।

मध्य प्रदेश में रेल सेवा आयोग का मुख्यालय भोपाल में स्थापित किया गया है।

मध्य प्रदेश में रेल मार्ग की कुल लंबाई 4903 किलोमीटर है।

मध्यप्रदेश में रेलवे स्प्रिंग बनाने का कारखाना सिथोली ग्वालियर में स्थापित किया गया है।

मध्य प्रदेश की पहली डबल डेकर ट्रेन इंदौर से भोपाल के मध्य चलाई गई।

Previous
Next Post »